Trending News
    गुरुमहिमा
    17 July

    पुष्पों की तरह रखते हमको

    काँटों सा डर भी दिखाते हैं ।

    उन गुरुओं को हम नमन करें,

    जो जीवनपथ दिखलाते हैं ।।१।।


    गुरुज्ञानराशि की खान हैं

    करते सब शास्त्र बखान हैं

    गुरु ममता की शीतचंद्रिका

    गुरु अनुशासन का ताप हैं। ।।२।।


    महिमा इनकी बड़ी ही न्यारी

    वेद पुराण बखानी है

    मैंने विद्यालय में ही आकर

    महिमा ये पहचानी है ।।३।।


    आशीष जिन्हें मिल जाता है

    गुरुस्नेह जिन्हें मिल जाता है

    धी अनायास खुल जाती है

    कुछ करतब नए दिखाती है ।।४।।


    भटक रहा हूँ पाने को

    मैं आशीष तुम्हारा

    तड़प जानकर मेरी

    मुझको तुम राह दिखाना ।।५।।


    भटक रहा हूँ पाने को

    मैं आशीष तुम्हारा

    तड़प जानकर मेरी मुझको

    तुम हरपल राह दिखाना ।।६।।


    महल बनाना है मुझको (प्रतिष्ठा का)

    तुम मुझको योग्य बनाना

    यही याचना है मेरी

    तुम कृपादृष्टि बरसाना ।।७।।

    #निजाक्षर✍✍✍✍

    कुलदीप गौड जिज्ञासु



    Comments

    You May Also Like

    ×

    कृपया हिंदी भाषा में खोजें!